कोर्ट ने फैसला सुनाया- 4 साल के बेटे का अपहरण करने वाले दोस्त और उसकी पत्नी सहित तीन को कोर्ट ने सुनाई दो-दो साल की सजा
त्वरित खबरे

पद्भनाभपुर के धनोरा इलाके का बहुचर्चित 4 साल के मौलिक साहू अपहरणकांड में बुधवार को कोर्ट ने फैसला सुनाया। कोर्ट ने मौलिक के पिता के दोस्त और मास्टरमाइंड राजू उर्फ राजकुमार साहू निवासी धनोरा, रुकेंद्र उर्फ रुपेंद्र सिन्हा निवासी मगरलोटा, रुकेंद्र की पत्नी बबीता और हेमू साहू निवासी धनोरा को दो-दो साल की सजा सुनाई। सभी पर दो- दो हजार का अर्थदंड भी लगाया गया। गिरोह में शामिल कुंदन साहू निवासी धनोरा को कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में दोष मुक्त कर दिया। यह फैसला बुधवार को न्यायाधीश डॉ. प्रभा पचौरी की कोर्ट ने सुनाया।

स्कूल वैन से आरोपियों ने बालक का कर लिया था अपहरण
लोक अभियोजक छन्नू प्रसाद साहू ने बताया कि मामला 20 अगस्त 2019 का है। आरोपियों ने वैन से स्कूल जा रहे आरामील व्यवसायी चंद्रशेखर साहू के बेटे मौलिक का दिन दहाड़े सुबह 8.30 बजे कदम प्लाजा के पास से अपहरण कर लिया गया। मोबाइल लोकेशन और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी राजकुमार को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद पुलिस ने बाकी आरोपियों को पकड़ लिया। मामले को विचारण के लिए कोर्ट में पेश किया।

कॉल डिटेल और सीसीटीवी कैमरे की मदद से पकड़े गए थे आरोपी
मास्टरमाइंड ने घटना वाले दिन दोस्त रुकेंद्र और हेमू के साथ चेहरे पर नकाब बांधकर मौलिक के वैन के पास पहुंच गए थे। वैन चालक कमलेश को बातों में उलझाया और कुत्ते का एक्सीडेंट करने का झांसा दिया। इसी दौरान मास्टरमाइंड वैन में बैठी केयर टेकर दिव्या से मौलिक को छीन लिया। इसके बाद तीनों मौलिक का अपहरण करके फरार हो गए। 17 घंटे के अंदर पुलिस ने आरोपियों को डिटेल और सीसीटीवी फुटेज की मदद से गिरफ्तार कर लिया था।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations