कलेक्टर चौधरी ने डी.एम.एफ. से स्वीकृत कार्यों का यू.सी./सी.सी. उपलब्ध कराने दिये निर्देश
त्वरित ख़बरें - दीपमाला शेट्टी रिपोर्टिंग

कोषालय में ई-कोष सिस्टम, देयक होंगे ऑनलाईन जमा नगरीय निकायों में फाईट द बाईट की गतिविधियां जारी रखें

दुर्ग, 10 जुलाई 2024/ कलेक्टर  ऋचा प्रकाश चौधरी ने कहा कि जिले में डी.एम.एफ. से स्वीकृत कार्यों की कार्य पूर्णता संबंधी यू.सी./सी.सी. विभाग द्वारा उपलब्ध करायी जाए। उन्हांेने कहा कि सभी विभाग अपने स्तर से कार्यों की समीक्षा कर पूर्ण कार्यों का यू.सी./सी.सी. उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, साथ ही लंबित कार्यों को शीघ्र पूर्ण करायें। उन्हांेने विभागों में लंबित पेंशन प्रकरणों की जानकारी ली और विभागों में पेंशन के लंबित प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निराकृत कराने अधिकारियों को निर्देशित किया। कलेक्टर ने अवगत कराया कि शासन के निर्देशानुसार सभी कोषालयों में 01 जुलाई से ई-कोष सिस्टम लागू हो चुकी है। अब सभी देयक ऑनलाईन जमा होंगे। उन्होंने जिला कोषालय अधिकारी को जिले के विभिन्न विभागों के लेखा अधिकारी, लेखापाल, सहायक ग्रेड-02 आदि को ई-कोष सिस्टम-ऑनलाईन देयक के संबंध में जानकारी देने हेतु प्रशिक्षण आयोजित करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर  चौधरी ने नगरीय निकायों, ग्रामीण क्षेत्रों एवं विभागों द्वारा पौधरोपण की जानकारी ली। उन्होंने सड़क किनारे एवं चिन्हित स्थानों में लक्ष्य के मुताबिक पौधरोपण कराने अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने दुर्ग निगम आयुक्त को एक पौधे मां के नाम से लगाने नगर की महिला मंडल एवं स्व-सहायता समूह की महिलाओं को प्रोत्साहित करने कहा है। इसी प्रकार कृषक वृक्ष मित्र योजना अंतर्गत उद्यानिकी एवं कृषि विभाग को अधिक से अधिक किसानों को जोड़ने तथा जिले के प्रति सहकारी समिति 10 कृषकों को वृक्ष लगाने प्रोत्साहित करने सी.सी.बी. के सीईओ को निर्देशित किया। कलेक्टर ने कहा कि जल संचयन को बढ़ावा देने सभी शासकीय कार्यालयों में रैनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम जरूरी है। जिन शासकीय कार्यालयों में उक्त सिस्टम नहीं है, अधिकारी शीघ्र निर्माण कराना सुनिश्चित करें।

कलेक्टर ने जिले में कैच द रैन अंतर्गत अधिकारियों के तालाब-कुआंे की सफाई, चेक डेम-स्टाप डेम, नहर-नाली आदि की सफाई के साथ हैण्डपंप-सोखपीट और रिचार्ज पीट पर विशेष फोकस करने कहा है। उन्होंने स्टाप डेम की पानी संग्रहण क्षमता बढ़ाने शील्ड सफाई कराने कार्यपालन अभियंता जल संसाधन विभाग तथा कृषकों के निजी बोरवेल में भी सोखपीट स्ट्रक्चर बनाने की ओर अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया। नगरीय निकायों में मच्छर उन्मूलन हेतु फाईट द बाईट अंतर्गत कुलर, नाली एवं गड्ढों में जमा पानी की सफाई, दवाई का छिड़काव, कार्यालय आदि की सफाई गतिविधियां जारी रहे, अधिकारी यह सुनिश्चित करें।

कलेक्टर ने जिले में युवोदय दुर्ग के एक वर्ष पूरे होने और विभागीय कार्यों में युवोदय के सहयोग की सराहना करते हुए इससे जुड़े युवकों के उत्साहवर्धन के लिए प्रति शनिवार युवोदय खेल उत्सव के आयोजन हेतु जिला खेल अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने पीएमश्री योजना और मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना की जानकारी ली। साथ ही स्कूल मरम्मत के कार्यों को प्राथमिकता से पूर्ण कराने कहा है। जिले के स्कूलों में इन दिनों निर्धारित तिथिवार आधार केम्प लगायी जा रही है। शिक्षा विभाग के अधिकारी स्कूली बच्चों का आधार कार्ड बनाने आवश्यक प्रमाण पत्र हेतु संबंधित शिक्षकों के माध्यम से बच्चों की अभिभावकों को पहले से ही सूचित करायें। कलेक्टर  चौधरी ने बैठक में विभागवार समय-सीमा के लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों द्वारा प्रकरणों के निराकरण पर संतोष व्यक्त करते हुए समय-सीमा प्रकरणों के निराकरण निर्धारित अवधि में ही करने के निर्देश दिये।

बैठक में एडीएम अरविन्द एक्का, सहायक कलेक्टर एम. भार्गव, नगर निगम भिलाई के आयुक्त देवेश ध्रुव, जिला पंचायत के सीईओ अश्वनी देवांगन, अपर कलेक्टर बी.के. दुबे, दुर्ग नगर निगम आयुक्त लोकेश चन्द्राकर, रिसाली नगर निगम आयुक्त  मोनिका वर्मा सहित सभी एसडीएम, सभी जनपद सीईओ एवं समस्त विभाग के जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

YOUR REACTION?

Facebook Conversations